Categories YOGA

वजन कम करने के लिए विन्यास योग: घर पर रहकर पाएं तगड़ी बॉडी

Introduction

विन्यास योग, जिसे “प्रवाह योग” के नाम से भी जाना जाता है ! योगासनों का एक गतिशील अनुक्रम है जो सांस के साथ तालमेल में जोड़ा जाता है ! यह योग शैली शक्ति, सहनशक्ति, लचीलेपन और मानसिक ध्यान को बेहतर बनाने के लिए एक प्रभावी तरीका है! विन्यास योग को शुरुआती और अनुभवी दोनों योगियों द्वारा अभ्यास किया जा सकता है ! क्योंकि आसनों की कठिनाई के स्तर को व्यक्तिगत आवश्यकताओं के अनुसार समायोजित किया जा सकता है 1

4 आसनों का योग

विन्यास योग में आसनों का एक विशिष्ट क्रम नहीं होता है ! लेकिन कुछ सामान्य आसन जो अक्सर शामिल होते हैं उनमें निम्नलिखित शामिल हैं !

सूर्य नमस्कार: यह आसनों का एक प्रसिद्ध क्रम है ! जो पूरे शरीर को गर्म करता है और स्ट्रेच करता है। सूर्य नमस्कार के कई अलग-अलग रूप हैं, जिनमें से प्रत्येक में थोड़े भिन्न आसन होते हैं !

विन्यास योग

अधो मुख श्वानासन (डाउनवर्ड-फेसिंग डॉग पोज़): यह आसन हाथों और पैरों को मजबूत बनाने, रीढ़ की हड्डी को लम्बा करने और हैमस्ट्रिंग को खींचने में मदद करता है !

चतुष्पदासन (टेबल पोज़): यह आसन कोर मांसपेशियों को मजबूत बनाने ! संतुलन में सुधार करने और कलाई और कंधों को खींचने में मदद करता है !

विन्यास योग

वीरभद्रासन I (योद्धा पोज़ I): यह आसन पैरों को मजबूत बनाने, मुद्रा में सुधार करने और आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद करता है !

विन्यास योग

करने का तरीका

विन्यास योग का अभ्यास करते समय, प्रत्येक आसन को सांस के साथ तालमेल में जोड़ना महत्वपूर्ण है ! उदाहरण के लिए, आप सूर्य नमस्कार के दौरान सांस छोड़ते हुए आगे की ओर झुक सकते हैं ! और सांस लेते हुए वापस ऊपर आ सकते हैं !

यह भी महत्वपूर्ण है कि आप अपनी गति से अभ्यास करें और अपने शरीर को सुनें। यदि आपको कोई दर्द महसूस होता है ! तो रुकें और आराम करें !

विन्यास योग फायदे

Ashtanga vinyasa yoga के कई फायदे हैं ! जिनमें शामिल हैं:

  • शक्ति और सहनशक्ति में वृद्धि: मांसपेशियों को मजबूत बनाने और सहनशक्ति बढ़ाने में मदद करता है।
  • लचीलेपन में सुधार: जोड़ों को ढीला करने और लचीलेपन में सुधार करने में मदद करता है।
  • मानसिक ध्यान में सुधार: एकाग्रता और ध्यान केंद्रित करने की क्षमता में सुधार करने में मदद कर सकता है।
  • तनाव और चिंता में कमी: तनाव और चिंता को कम करने में मदद कर सकता है।
  • वजन घटाने में सहायता: Ashtanga vinyasa yoga कैलोरी जलाने और वजन कम करने में मदद कर सकता है।
  • हृदय स्वास्थ्य में सुधार: हृदय स्वास्थ्य में सुधार करने में मदद कर सकता है।
  • पाचन में सुधार योग पाचन में सुधार करने में मदद कर सकता है।
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि: Ashtanga vinyasa yoga रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

विन्यास योग: FAQs (अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न)

1. Ashtanga vinyasa yoga करने के लिए क्या चाहिए?

विन्यास योग करने के लिए किसी खास चीज की जरूरत नहीं होती है. आप इसे आरामदायक कपड़े पहनकर, चटाई या किसी समतल जगह पर कर सकते हैं.

2. क्या मैं घर पर ही Ashtanga vinyasa yoga सीख सकता/सकती हूँ?

बिल्कुल! आजकल कई योग वीडियो ऑनलाइन उपलब्ध हैं ! जिनकी मदद से आप घर पर ही Ashtanga vinyasa yoga सीख सकते हैं. शुरुआत में किसी अनुभवी योग प्रशिक्षक से मार्गदर्शन लेना फायदेमंद होता है.

3. क्या Ashtanga vinyasa yoga करने के लिए लचीला होना ज़रूरी है?

नहीं, विन्यास योग करने के लिए पहले से ही लचीला होना ज़रूरी नहीं है ! नियमित अभ्यास से आपकी लचीलापन धीरे-धीरे बढ़ता जाएगा !

4. विन्यास योग कितनी देर करना चाहिए?

शुरुआत करने वालों के लिए 15-20 मिनट का अभ्यास पर्याप्त होता है. आप धीरे-धीरे अभ्यास की अवधि को बढ़ा सकते हैं.

5. विन्यास योग सुबह के समय करना ज्यादा बेहतर है या शाम के समय?

विन्यास योग आप सुबह या शाम, दोनों समय कर सकते हैं ! जो समय आपके लिए सबसे ज़्यादा आरामदायक हो, उसी समय अभ्यास करें. बस ध्यान दें कि खाना खाने के कम से कम 2-3 घंटे बाद ही विन्यास योग करें !

6. क्या रोज़ Ashtanga vinyasa yoga करना ज़रूरी है?

नहीं, रोज़ाना अभ्यास करना ज़रूरी नहीं है ! लेकिन जितना हो सके नियमित रूप से अभ्यास करने से फायदे ज़्यादा मिलते हैं. आप हफ्ते में 3-4 बार भी अभ्यास कर सकते हैं !

7. Ashtanga vinyasa yoga करने से कोई नुकसान हो सकता है?

सामान्यतः Ashtanga vinyasa yoga करने से कोई नुकसान नहीं होता ! पर अगर आपको कोई बीमारी है या चोट लगी है, तो योग शुरू करने से पहले डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें. अपनी क्षमता से ज्यादा ज़ोर न लगाएं और किसी भी आसन में दर्द होने पर रुक जाएं !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *