Categories care measures

9 दिनों तक चलेगा नौतपा! गर्मी से बचने के 9 आसान उपाय कैसे रखें अपना ख्याल?

जून का महीना आते ही भारत के कई हिस्सों में भयंकर गर्मी का दौर शुरू हो जाता है। इस साल भी 29 मई से 6 जून तक नौतपा का प्रकोप रहेगा। इन नौ दिनों को साल के सबसे गर्म दिन माना जाता है।

क्या होता है? नौतपा

हिन्दू पंचांग के अनुसार सूर्य के मेष राशि में प्रवेश करने का समय होता है। यह 21 जून से शुरू होता है और 30 जुलाई तक रहता है। इन 40 दिनों को नौ-नौ दिन के चार चरणों में बांटा गया है, जिनमें से पहले नौ दिनों को “नौतपा” कहा जाता है।

नौतपा में गर्मी क्यों बढ़ जाती है?

  • पृथ्वी का सूर्य के करीब होना: जून में पृथ्वी अपनी कक्षा में सूर्य के सबसे करीब होती है, जिसके कारण धरती पर सूर्य का तापमान अधिक तीव्रता से अनुभव होता है।
  • दिनों का लंबा होना: जून में दिन सबसे लंबे होते हैं, जिसके कारण सूर्य की रोशनी पृथ्वी पर अधिक समय तक पड़ती है।
  • पवन दिशा में बदलाव: इस दौरान हवाएं दक्षिण-पश्चिम दिशा से चलती हैं, जो गर्म और शुष्क होती हैं।

नौतपा में सेहत का ध्यान कैसे रखें?

1. पानी का सेवन:

  • दिन भर में भरपूर मात्रा में पानी पीते रहें।
  • गर्मी से पसीना अधिक निकलने के कारण शरीर में पानी की कमी हो सकती है, जिससे डिहाइड्रेशन हो सकता है।
  • इसलिए, पानी, नींबू पानी, छाछ, ORS घोल, और तरल पदार्थों का सेवन करते रहें।

2. हल्का और पौष्टिक भोजन:

  • भारी और मसालेदार भोजन से बचें।
  • हरी सब्जियां, फल, दही, छाछ, और सलाद का सेवन करें।
  • घर का बना खाना खाएं और बाहर के खाने से बचें।

3. ढीले और सूती कपड़े पहनें:

  • गहरे रंगों के बजाय हल्के रंगों के कपड़े पहनें।
  • सूती कपड़े पसीने को सोखने में मदद करते हैं और शरीर को ठंडा रखते हैं।

4. धूप से बचाव:

  • सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक तीखी धूप से बचें।
  • घर से बाहर निकलते समय टोपी, छाता, और सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें।

5. ठंडी चीजों का सेवन:

  • नारियल पानी, तरबूज, खरबूजा, और दही का सेवन शरीर को ठंडा रखने में मदद करता है।
  • आप घर पर ठंडी छाछ, नींबू पानी, और शरबत भी बना सकते हैं।

6. पर्याप्त नींद:

  • गर्मी में रात की नींद कम हो सकती है।
  • इसलिए, कोशिश करें कि आप 7-8 घंटे की नींद जरूर लें।

7. शारीरिक गतिविधि:

  • सुबह जल्दी या शाम को सूरज ढलने के बाद व्यायाम करें।
  • भारी व्यायाम करने से बचें और हल्के व्यायाम जैसे योग, ध्यान, और टहलने पर ध्यान दें।

8. बुजुर्गों और बच्चों का ध्यान रखें:

  • बुजुर्गों और बच्चों को अधिक पानी पिलाएं और उन्हें धूप से बचाएं।
  • उनके लिए हल्का और पौष्टिक भोजन बनाएं।

9. डॉक्टरी सलाह:

नौतपा में यदि आपको कोई स्वास्थ्य संबंधी समस्या होती है, तो डॉक्टर से सलाह लेना ज़रूरी है।

  • डिहाइड्रेशन: यदि आपको प्यास अधिक लगना, चक्कर आना, पेशाब कम होना, और थकान महसूस होना जैसे लक्षण दिखाई देते हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।
  • हीट स्ट्रोक: तेज बुखार, सिरदर्द, चक्कर आना, पसीना न आना, और बेहोशी जैसे लक्षण हीट स्ट्रोक के संकेत हो सकते हैं। यदि आपको ये लक्षण दिखाई देते हैं, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और ठंडे पानी से नहलाएं।
  • अन्य स्वास्थ्य समस्याएं: यदि आपको कोई अन्य स्वास्थ्य समस्या है, जैसे कि हृदय रोग, मधुमेह, या उच्च रक्तचाप, तो नौतपा के दौरान आपको विशेष सावधानी बरतने की आवश्यकता है। अपने डॉक्टर से सलाह लें कि आपको क्या करना चाहिए।
Nautapa Home Remedies : 25 मई से शुरू हो रहा नौतपा...आइये जानें कैसे बचे लू  से व इसके घरेलू उपाय | Nautapa Home Remedies : Nautapa is starting from  25th May...let's know

यहाँ कुछ महत्वपूर्ण फोन नंबर दिए गए हैं:

  • एम्बुलेंस: 108
  • डॉक्टर की सलाह: https://www.practo.com/
  • ज़रूरी हेल्पलाइन: 1077

यह भी याद रखें:

  • अपनी दवाइयां समय पर लें।
  • घर से बाहर निकलते समय अपने साथ पानी की बोतल जरूर रखें।
  • बार-बार हाथ धोते रहें।
  • अपने आसपास के लोगों का भी ध्यान रखें, खासकर बुजुर्गों और बच्चों का।
Nautapa : 26 जिलों का तापमान 40 डिग्री से अधिक, खरगोन और खंडवा सबसे हॉट |  स्वतंत्र समय - Hindi News Paper from Madhya Pradesh

नौतपा के बारे में कुछ अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

1. नौतपा क्या होता है?

नौतपा सूर्य के मेष राशि में प्रवेश करने के समय को कहते हैं। यह 40 दिनों का होता है, जिसे चार चरणों में बांटा गया है। पहले नौ दिनों को सबसे अधिक गर्म माना जाता है, इन्हें ही “नौतपा” कहा जाता है।

2. नौतपा में इतनी गर्मी क्यों पड़ती है?

इसके तीन मुख्य कारण हैं:

  • पृथ्वी का सूर्य के सबसे करीब होना
  • दिनों का लंबा होना
  • हवाओं की दिशा में बदलाव (दक्षिण-पश्चिम दिशा से चलने वाली गर्म और शुष्क हवाएं)

3. नौतपा में सेहत का ध्यान कैसे रखें?

  • भरपूर पानी पिएं।
  • हल्का और पौष्टिक भोजन करें।
  • ढीले और सूती कपड़े पहनें।
  • सुबह 10 बजे से शाम 4 बजे तक धूप से बचें।
  • ठंडी चीजों का सेवन करें, जैसे नारियल पानी, तरबूज, खरबूजा, दही आदि।
  • पर्याप्त नींद लें।
  • व्यायाम करें, लेकिन सुबह जल्दी या शाम को सूरज ढलने के बाद।
  • बुजुर्गों और बच्चों का खास ध्यान रखें।

4. नौतपा में अगर तबीयत खराब हो जाए तो क्या करें?

  • डॉक्टर से संपर्क करें, खासकर अगर आपको डिहाइड्रेशन या हीट स्ट्रोक के लक्षण दिखाई दें।
  • अपने डॉक्टर से सलाह लें, खासकर अगर आपको कोई पहले से कोई बीमारी है।

5. नौतपा कब से कब तक होता है?

नौतपा 29 मई से 6 जून तक होता है !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *